दिल्ली सरकार का फैसला: आंबेडकर यूनिवर्सिटी के दो नए परिसरों के लिए 2300 करोड़ रुपये किए मंजूर

0
129

दिल्ली सरकार ने रोहिणी एवं धीरपुर में, सरकारी आंबेडकर विश्वविद्यालय के दो नए परिसरों के निर्माण के लिए 2306.58 करोड़ रुपये की राशि मंजूर की है। एक सरकारी बयान में बुधवार को यह जानकारी दी गई। बयान के अनुसार, इन नये परिसरों में आगामी वर्षों में 26,000 से अधिक विद्यार्थियों को जगह मिलेगी। बयान के मुताबिक, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आंबेडकर विश्वविद्यालय के इन आगामी परिसरों में अत्याधुनिक बुनियादी ढांचा खड़ा करने के लिए 2306.58 करोड़ रूपये की राशि मंजूर की है। शिक्षा विभाग का भी प्रभार संभाल रहे सिसोदिया ने कहा कि हर साल ढाई लाख से अधिक विद्यार्थी बारहवीं पास कर विभिन्न विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन करते हैं।

उन्होंने कहा, हरेक को मेधा एवं क्षमता के बाद भी प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में दाखिला नहीं मिलता। इतने अधिक विद्यार्थियों की शैक्षणिक जरूरतों को पूरा करने के लिए नये परिसरों की रूपरेखा बनाई गयी ताकि सामूहिक भागीदारी, स्व-विकास के लिए समुचित जगह, ज्ञान सृजन एवं प्रसार, सामुदायिक जीवन एवं समावेशी संस्कृति का मार्ग सुगम करने के लिए सर्वथा अनुकूल माहौल सुनिश्चित किया जा सके।

सिसोदिया ने कहा कि फिलहाल विश्वविद्यालय में 4000 से अधिक विद्यार्थी अध्ययन कर रहे हैं लेकिन धीरपुर एवं रोहिणी में नये परिसरों के बन जाने के बाद यह आंकड़ा 30,000 तक चला जाएगा। आंबेडकर विश्वविद्यालय का रोहिणी में नया परिसर 1107.56 करोड़ रूपये की लागत से बनाया जाएगा। यह परिसर 1,64,130 वर्गमीटर में फैला होगा जहां 10,000 से अधिक विद्यार्थी पढ़ाई-लिखाई कर पाएंगे। धीरपुर में संस्थान का नया परिसर 2,00,759 वर्गमीटर में बनेगा जिस पर 1199.02 करोड़ रूपये का खर्च आएगा। वहां 16,000 से अधिक विद्यार्थी अध्ययन कर पाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here