दिल्ली में पेड़ों को गिराये जाने की अनुमति नहीं, हाईकोर्ट ने पेड़ गिराए जाने पर लगाई रोक

0
150

दिल्ली हाईकोर्ट ने राजधानी में पेड़ गिराए जाने पर गुरुवार को रोक लगाते हुए कहा कि शहर में पारिस्थितिकीय और पर्यावरण क्षय को कम करने का और कोई तरीका नहीं है। पेड़ों के संरक्षण से संबंधित एक अवमानना मामले पर सुनवाई कर रहे न्यायमूर्ति नाजमी वजीरी ने कहा कि शहर में पिछले तीन साल में 29,000 पेड़ काटे गए। उन्होंने कहा, हमने पेड़ों को काटे जाने पर रोक लगा दी है। सुनवाई की अगली तारीख तक पेड़ों को नहीं गिराया जाएगा। मामले में अगली सुनवाई के लिए दो जून की तारीख तय की गई। उन्होंने कहा, पिछले तीन साल में कुल 29,946 पेड़ काटने की अनुमति दी गयी, जो गणना करने पर 27 पेड़ प्रतिदिन या 1.13 पेड़ प्रति घंटा है।

अदालत ने कहा कि जिन पेड़ों को काटने की अनुमति दी गई उनके घेरे और आयु को लेकर कोई रिकॉर्ड नहीं है। उसने कहा, इसलिए यह जनहित में और वर्तमान तथा भावी पीढ़ियों के लिए पर्यावरण के हित में होगा कि सुनवाई की अगली तारीख तक दिल्ली में पेड़ों को काटने की अनुमति नहीं दी जाए और सुनिश्चित किया जाए कि पेड़ों को तभी गिराया जाए, जब आवेदक उसे कम से कम दूसरी जगह लगाने का आश्वासन दे। निश्चित रूप से शहर के पारिस्थितिकीय और पर्यावरण क्षय को कम करने का और कोई मार्ग नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here