Delhi MCD Election 2022: भाजपा को AAP की बड़ी चुनौती, हिम्मत है तो कराकर दिखाएं दिल्ली एमसीडी चुनाव

0
169

दिल्ली नगर निगम चुनाव (delhi nagar nigam chunav) टाले जाने के बाद एक बार फिर भाजपा और आप के बीच तीखी जंग छिड़ गई है। आप भाजपा पर लगातार चुनाव टलवाने का आरोप लगाती आ रही है। हालांकि अगले महीने आयोग की ओर से चुनाव कराने को लेकर फैसला लेने की बात कही गई है। इस बीच आप ने एक बार फिर भाजपा को कड़ी चुनौती दी है। केंद्र सरकार के तीनों निगमों को एक करने फैसले को आम आदमी पार्टी ने भाजपा (BJP) का डर बताया है। पार्टी का कहना है कि भाजपा निगम चुनाव में आम आदमी पार्टी का सामने करना के लिए तैयार है। इसलिए निगम के एकीकरण के बहाने चुनाव टाल रही है। आप नेताओं ने कहा कि हम भाजपा चुनौती देते है कि अगर हिम्मत है तो एमसीडी चुनाव समय पर करके दिखाओ। आप विधायक आतिशी ने इसे लोकतंत्र के खिलाफ बताया है।

पार्टी मुख्यालय में में पत्रकारों से बातचीत में आतिशी ने कहा कि मंगलवार को केंद्रीय कैबिनेट ने तीनों निगमों उत्तरी, दक्षिणी और पूर्वी के एकीकरण के प्रस्ताव को पास कर दिया है। पिछले 15 सालों से एमसीडी में भाजपा की सरकार है। यही नहीं केंद्र में भी पिछले सात साल से भाजपा की ही सरकार है। लेकिन उनको कभी ख्याल नहीं आया कि एमसीडी में बदलाव और एकीकरण की जरूरत है, एमसीडी में बेहतर शासन की जरूरत है। निगम चुनाव के ठीक पहले उन्हें यह ख्याल आया है।

केंद्र के फैसले पर सवाल उठाते हुए आतिशी ने कहा कि अगर एमसीडी के तीन हिस्से करने से शासन में दिक्कत आ रही थी तो यह ख्याल भाजपा को पहले क्यों नहीं आया। क्या तीनों एमसीडी के मेयरों ने कभी कोई शिकायत लिखी। पहले कभी इस मुद्दे को क्यों नहीं उठाया गया। उन्हें पता चला कि एमसीडी में चुनाव हुए तो वह हार जाएंगे, तो ये लेकर आएं है। तीनों निगमों के एकीकरण पर के फैसले पर आतिशी ने कहा कि हमने अभी विधेयक नहीं देखा है इसलिए उसपर कुछ नहीं बोल सकते। लेकिन हमारी मांग है कि चुनाव अपने समय से होने चाहिए। 18 मई तक नई एमसीडी का गठन होना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here