Delhi News: दो साल बाद दिल्ली के बाजारों में लौटी रौनक, होली से पहले जमकर उमड़ी भीड़

0
189

होली से पहले बाजारों में खरीदारी का माहौल है। बुधवार को होली की छुट्टी से पहले दफ्तरों में आखिरी कार्य दिवस था। ऐसे में सामान्य लोगों से लेकर नौकरीपेशा लोग घर जाने से पहले बाजारों में बड़ी संख्या में खरीदारी करने के लिए पहुंचे। सरोजनी नगर, गांधी नगर, सदर बाजार से लेकर चांदनी चौक व अन्य सभी बाजारों में सामान्य दिनों की अपेक्षा ज्यादा भीड़ देखने को मिली। खारी बावली में घर पर बनने वाले पकवानों के लिए सूखे मेवा व अन्य जरूरी खाद्य सामान्य खरीदने वालों की संख्या काफी रही। इसके साथ ही सरोजनगर, सदर बाजार समेत अन्य बाजारों में होली के लिए कपड़े, रंग, पिचकारी व अन्य सामान की खरीद अच्छी खासी हुई।

त्योहार की खरीदारी में खिले व्यापारियों के चेहरे

राजधानी के प्रमुख बाजारों में से एक सदर बाजार में कपड़े से लेकर ज्वेलरी व अन्य जरूरी सामान की बड़ी संख्या में दुकान हैं। होली से पहले बुधवार दोपहर के वक्त बाजार में अच्छा खासी चहल-पहल देखने को मिली। दुकानों के अंदर और बाहर मुख्य सड़क पर काफी भीड़ थी। बाजार में खरीदारी करने पहुंचे प्रशांत ने बताया कि उन्हें कहा कि होली से जुड़े काफी सामान बाजार में कम उपलब्ध हैं और अगर उपलब्ध है तो उसके दाम काफी ज्यादा है। बाकी दो वर्ष के बाद होली मान रहे हैं तो इस बार काफी लोग खरीदारी कर रहे हैं। रंग, पिचकारी, गुब्बारे, खिलौने से लेकर गिफ्ट आइटम की सबसे ज्यादा खरीदारी देखने को मिली। इसके साथ ही मिठाई की दुकानों पर भी अच्छी खासी भीड़ बढ़े।
रंगों का यह त्योहार व्यापारियों के कारोबार में भी खुशियों के रंग घोलने का काम कर रहा है। दो वर्ष के बाद सामान्य ढंग से लोग होली मान रहे हैं। इस पर होली मिलन कार्यक्रम भी हो रहे हैं और लोग एक दूसरे के घर मिठाई व गिफ्ट आइटम भेजकर होले की शुभकामनाएं भी दे रहे हैं, जिससे इन सभी सामान की खरीदारी बढ़ी है। हालांकि इस बार बाजार में पिचकारी काफी कम है। क्योंकि लोगों ने कम ही ऑर्डर दिए थे। इसलिए अधिकांश व्यापारी पुराना सामान ही निकाल रहे हैं।

सरोजनी नगर राजधानी के सबसे पुराने बाजारों में से एक है। बीते दो वषों के दौरान कोरोना के चलते बाजार में खरीदारी सीमित रही है लेकिन इस बाहर होली पर खरीदारी करने के लिए उमड़ी भीड़ से व्यापारियों के चेहरे खिले हैं। व्यापारियों का कहना है कि भले ही होली की खरीदारी चुनिंदा क्षेत्र के व्यापारियों तक सीमित हो लेकिन कम से कम कुछ हद तक मिठाई, रंग, गिफ्ट और कॉस्मेटिक की दुकान करने वालों को फायदा हो रहा है। बीते दो वर्षों से होले पर न कार्यक्रम आयोजित हो रहे थे और न ही किसी तरह के सामूहिक आयोजन की अनुमति थी। अब कार्यक्रम भी हो रहे है और लोग एक दूसरे से मिलकर होली की बधाई भी दे पा रहे हैं। सरोजनी नगर व्यापार एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक रंधावा कहते हैं कि होली पर आयोजन की अनुमति मिलने से मिठाई और गिफ्ट की खरीदारी बढ़ी है। इसके साथ ही होली से जुड़े रंग और पिचकारी व अन्य सामान की बड़ी संख्या में खरीदे जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here