Delhi MCD Election 2022: क्यों टाले गए दिल्ली के नगर निगम चुनाव, AAP ने खोली भाजपा की पोल

0
168

Delhi nagar nigam chunav: आम आदमी पार्टी के दिल्ली नगर निगम प्रभारी दुर्गेश पठाक ने कहा कि देश का लोकतंत्र खतरे में है। हार के डर से भाजपा ने दिल्ली निगम चुनाव को टाला है। आप विधायक आतिशी ने कहा कि यह लोकतंत्र के अंत की शुरुआत है, हार के डर से आज निगम चुनाव टाला है, कल को राज्य के चुनाव टाल सकते हैं। यदि केंद्र यूनिफिकेशन चाहती है तो वह चुनाव के बाद भी संभव है, आज हम 3 हाउस में बैठते हैं, 6 महीनों बाद एक हाउस में बैठ सकते हैं।

टी.एन शेषन जैसे लोग इस देश में चीफ इलेक्शन कमीशन रहे हैं। ऐसे लोग इलेक्शन कमीशन को इतनी ऊंचाई पर ले गए हैं कि इस पूरे देश, पूरी दुनिया में भारत के इलेक्शन कमीशन पर कभी कोई सवाल नहीं उठा सकता है। लेकिन आज इलेक्शन कमीशन की फ्री एंड फेयर इलेक्शन करवाने की जो योग्यता है, आज उसपर सवाल उठ रहे हैं।दुर्गेश पाठक ने कहा कि दिल्ली में नगर निगम के चुनाव होने वाले थे। 9 मार्च को शाम 5 बजे दिल्ली के इलेक्शन कमीशन ने मीडिया को बुलाया। हर जगह यही खबर थी कि वह इलेक्शन के कोड ऑफ कंडक्ट को निकाल चुके हैं।

9 मार्च को इलेक्शन की तय तारीख की घोषणा होने वाली थी। शाम को प्रेसवार्ता मंग एस.के श्रीवास्तव आकर कहते हैं कि उन्हें थोड़ी देर पहले केंद्र सरकार से एक चिट्ठी मिली है, जिसमें कहा गया है कि वह तीनों निगमों को एक करना चाहते हैं, इसलिए फिलहाल इलेक्शन को टाल दिया जाए। आप विधायक आतिशी ने कहा कि जैसा कि हम सब जानते हैं और हम सबको इस बात पर फक्र है कि भारत एक लोकतंत्र है। एक लोकतंत्र है, जहां जनता का शासन चलता है। एक लोकतंत्र है, जहां चाहे कोई अमीर हो या गरीब हो, चाहे किसी धर्म का हो या किसी जाति का हो, उसे 5 साल में एक बार वोट करने का मौका मिलता है। वह जिस पार्टी या जिस नेता को चाहे, उठाकर बाहर फेंक सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here