Delhi sarkar decision: सीएम केजरीवाल ने बुजुर्गों को दी ओल्ड एज होम की सौगात; भोजन और कपड़े से लेकर जानें क्या-क्या मिलेंगी सुविधाएं

0
148

Delhi ki taza khabar: नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बेसहारा बुजुर्गों के लिए यहां कांति नगर में विश्वस्तरीय ओल्ड एज होम का मंगलवार को उद्घाटन किया, जिसमें निःशुल्क आवास, भोजन, कपड़े, बिस्तर, टीवी, रेडियो, पुस्तक, भजन-कीर्तन कार्यक्रम के साथ मनोरंजन केंद्र, स्वास्थ्य, फिजियोथेरपी आदि सुविधाएं उपलब्ध हैं। सीएम केजरीवाल ने कहा कि डॉक्टर भीमराव अंबेडकर वरिष्ठ नागरिक निवास बहुत ही शानदार बनाया है। इसमें बुजुर्गों के लिए हर चीज का ख्याल रखा गया है। एक कमरे में दो या तीन लोग रहेंगे। सभी कमरे बड़े-बड़े बने हैं।

कमरे के साथ अटैच टॉयलेट और बाथरूम है। खेलने, दवाइयों, डॉक्टर, फिजियोथैरेपी की सुविधा है। अच्छा खाना है। लाइब्रेरी है। सारी सुविधाओं का ध्यान रखा गया है। मैं समझता हूं कि जो भी बुजुर्ग यहां पर आकर रहेंगे, उनको सभी तरह की सुविधाएं मिलेंगी। वैसे तो बुजुर्ग अपने घर में ही रहें तो बहुत अच्छा रहता है। घर जैसी व्यवस्था तो कहीं नहीं मिल सकती है। लेकिन हमने कोशिश की है कि जिनकों अपना घर छोड़कर मजबूरी में यहां आकर रहना पड़ेगा, उनको यह न महसूस हो कि वे घर छोड़कर आए हैं, हमारे को पूरी सुविधा नहीं मिल रही है। आज जिस तरह की जिंदगी हो गई है। बहुत सारे बुजुर्ग ऐसे है, जिनकी बच्चों से नहीं बनती है और बच्चों की बुजुर्गों से नहीं बनती है। बहुत सारे बुजुर्ग ऐसे हैं, जिनको बुढ़ापे में देखने वाले बच्चे नहीं है। कई कारणों की वजह से कई बुजुर्गों को बुढ़ापे में अपना घर छोड़ना पड़ता है। उनकी देखरेख करने वाला कोई नहीं होता है। यह कोई जरूरी नहीं कि ऐसा गरीबों में ही है। कई बहुत अच्छे-अच्छे परिवारों के बुजुर्गों को भी बुढ़ापे में कोई देखने वाला नहीं होता है। उनका बच्चे ख्याल नहीं रखते हैं।

पूरे दिल्ली वालों को 19 नए स्कूलों का तोहफा देगी केजरीवाल सरकार

बुजुर्गों के लिए दिल्ली में अभी नौ और बनेंगे निवास

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने यह चौथा निवास स्थान बनाया है। इसी तरह के दिल्ली में नौ निवास बनाए जाएंगे, जिसमें करीब एक हजार लोग रह सकेंगे। इसके अलावा भी और निवास स्थान बनाएंगे। उन्होंने कहा कि हमने दिल्ली के बुजुर्गों के लिए तीर्थ यात्रा भी शुरू की है। बीच में कोरोना की वजह से तीर्थ यात्रा बंद हो गई थी। दिल्ली सरकार बुजुर्गों को फ्री में तीर्थ यात्रा कराती है। सरकार बजुर्गों को द्वारका, हरिद्वार, ऋषिकेश, मथुरा, वृंदावन, अयोध्या, अजमेर शरीफ, रामेश्वरम और शिरडी समेत कई सारी जगह तीर्थ यात्रा करा कर लाती है। आप जहां भी जाना चाहो, अपने आप को वेबसाइट पर जाकर रजिस्टर कर लो। आपको घर से लेकर जाना और लाना फ्री है। आपको एसी ट्रेन में लेकर जाते हैं और एसी होटल में रुकवाते हैं और खाना आदि सब कुछ फ्री है। बुढ़ापे में अच्छे से तीर्थ यात्रा करके आइए, बहुत अच्छा लगेगा। सीएम केजरीवाल ने कांति नगर स्थित शांति मोहल्ला में बनाए गए डॉक्टर बाबा साहब अंबेडकर वरिष्ठ नागरिक निवास का फीता काट कर विधिवत उद्घाटन किया। यह वृद्धाश्रम बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर की स्मृति में दिल्ली के बुजुर्गों को समर्पित किया गया है।

इस क्षेत्र में दिल्ली के छह लाख युवाओं को रोजगार देने की तैयारी में केजरीवाल सरकार, जानें पूरा प्लान

पांच मंजिल में 117 कमरे, 81 में पुरुष और 36 में महिलाएं करेंगी निवास

सीएम केजरीवाल ने वरिष्ठ नागरिक निवास में रहने वाले बुजुर्गों से बातचीत भी की और उनका सुख- दुख साझा किया। इस पांच मंजिला वरिष्ठ नागरिक निवास में 117 कमरे हैं, जिसमें से 81 कमरे पुरुषों के लिए हैं, जबकि 36 कमरे महिलाओं के लिए हैं। इससे पहले पहले तीन वृद्धाश्रम का लोकार्पण हो चुका है, जबकि पांच और भवनों का निर्माण कार्य प्रगति पर है। इस अवसर पर समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने कहा कि 14 अप्रैल को बाबा साहब डॉ. अंबेडकर जी की जयंती है। हमने उनकी ही याद में बुजुर्गों के लिए यह डॉक्टर बाबा साहब अंबेडकर वरिष्ठ नागरिक निवास बनाया है। बहुत से लोग कह रहे थे कि निवास की जगह आश्रम लिखने को कह रहे थे, लेकिन हम लोगों ने कहा कि वृद्धाश्रम में वह फीलिंग आती है, जैसे इन बुजुर्गों को कोई देखने वाला नहीं है। जबकि दिल्ली के मुख्यमंत्री श्रवण कुमार के रूप में दिल्ली के सारे बुजुर्गों को, चाहे वह किसी भी जाति-धर्म के क्यों न हों, उनको तीर्थ यात्राएं करा रहे हैं। जिन बुजुर्गों को देखने वाला कोई नहीं है, उनका बेटा बनकर उनके लिए सारी व्यवस्थाएं कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here