मुंडका अग्निकांड: आग से दहली दिल्ली, इमारत में फंसे थे 200 लोग, हादसे के समय एक कमरे में हो रही थी मीटिंग

0
137

पश्चिमी दल्लिी के मुंडका मेट्रो के पिलर नंबर 545 के पास स्थित इमारत में शुक्रवार को भीषण आग लगने से कम से कम 27 लोगों की मौत हो गई है। हालांकि, मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका अभी भी जताई जा रही है। अग्निशमन विभाग के अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने 27 शव बरामद किए हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, 12 से अधिक लोग आग में झुलस गए हैं और उनका इलाज संजय गांधी अस्पताल में चल रहा है। दिल्ली अग्निशमन विभाग के मुताबिक, उन्हें शाम के करीब 4:40 बजे आग लगने की घटना की सूचना मिली। आग पर काबू पाने के लिए दमकल की 30 गाड़ियां मौके पर पहुंची और इसके साथ ही पीड़ितों को तत्काल चिकित्सा सहायता प्रदान करने के लिए एम्बुलेंस की सुविधा भी मौके पर उपलब्ध कराई गई।

मुंडका अग्निकांड: मरने वालों के परिवारों को दो-दो लाख देगी केन्द्र सरकार, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने जताया शोक

फायर ब्रिगेड की मदद के लिए एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल) की टीम भी मौके पर तैनात थी। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि यह एक चार मंजिला इमारत है। आग इमारत की पहली मंजिल में लगी, जहां एक सीसीटीवी कैमरे और राउटर निर्माण कंपनी का कार्यालय है। इमारत में स्थित एक गोदाम में परफ्यूम और देसी घी होने की वजह से आग ने तेजी से पूरे गोदाम को अपनी चपेट में ले लिया। उन्होंने कहा, हादसे के वक्त इमारत में करीब 200 लोग थे जिसमें एक कमरे में 50-60 लोगों की मीटिंग भी हो रही थी तभी आग में इन्हें अपनी चपेट में ले लिया। खिड़कियों के शीशे को तोड़कर लोगों को बाहर निकालने का काम किया गया। पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) समीर शर्मा ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने दिल्ली के मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास आग लगने वाली इमारत के मालिक हरीश गोयल और वरुण गोयल को हिरासत में लिया है, जो बिल्डिंग के टॉप फ्लोर में रहते हैं। उन्होंने अब तक 50 लोगों को बचाए जाने की भी जानकारी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here