दिल्ली मेट्रो में जनवरी से महंगा हो गया स्मार्ट कार्ड, जानें कितना बढ़ा बोझ

0
144

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने रविवार को बताया कि मेट्रो में नियमित यात्रा के लिए यात्रियों द्वारा स्मार्ट कार्ड के प्रयोग में वृद्धि दर्ज की गई है। जनवरी 2022 में यात्रा के लिए स्मार्ट कार्ड का प्रयोग लगभग 78 प्रतिशत हो गया है जो कोविड काल से पूर्व 70 प्रतिशत था। डीएमआरसी ने कहा कि मेट्रो स्टेशनों से प्रतिदिन औसतन 10-12 हजार मेट्रो स्मार्ट कार्ड की बिक्री होती है। स्मार्ट कार्ड से की जाने वाली यात्रा पर 10 प्रतिशत की छूट दी जाती है तथा कम भीड़-भाड़ वाले समय (ऑफ पीक आवर) में मेट्रो स्टेशन में प्रवेश करने पर 10 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट दी जाती है। वर्तमान में लगभग 2.5 करोड़ मेट्रो स्मार्ट कार्ड प्रयोग में हैं।

वर्ष 2002 में दिल्ली मेट्रो यात्रा के लिए कागज के टिकट के स्थान पर टोकन (कांटैक्टलेस स्मार्ट टोकन) और स्मार्ट कार्ड (कांटैक्टलेस स्मार्ट कार्ड) जारी करने वाली संस्था के रुप में विश्व की पहली मेट्रो रेल बनी। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2020 में दिल्ली मेट्रो में तीन-चार महीने के लिए स्मार्ट कार्ड का प्रयोग 100 प्रतिशत तक हो गया था जब 169 दिनों तक लगातार लॉकडाउन के बाद सितंबर 2020 में मेट्रो सेवाएं पुन: बहाल हुई थी। डीएमआरसी ने कहा कि हम अन्य मेट्रो प्रणालियों जैसे सिंगापुर और हांगकांग मेट्रो की भांति इस आंकड़े को बढ़ाने का इरादा रखती है जहां मेट्रो से यात्रा करने वाले लगभग 100 प्रतिशत लोग कार्ड कार्ड के जरिए सुगम और आनंदायक यात्रा का प्रतिदिन लाभ उठा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here