Delhi News: केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली में अब मास्क नहीं पहनने पर नहीं लगेगा जुर्माना

0
158

लगातार घटते कोरोना के केसों को देखते हुए केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में लगे कोरोना प्रतिबंधों को हटा लिया है। अब राजधानी दिल्ली में मास्क नहीं पहनने पर जुर्माना नहीं देना पड़ेगा। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की गुरुवार को हुई बैठक में इस पर सैद्धांतिक सहमति बन गई है। हालांकि, इस पर विशेष आदेश का अभी इंतजार किया जा रहा है।

दिल्ली में कोरोना संक्रमण की दर में आई कमी के साथ ही दिल्लीवालों को मास्क से भी राहत देने की तैयारी कर ली गई है। दिल्ली आपदा प्रबंधन की पिछली बैठक में मास्क नहीं लगाने पर जुर्माने की राशि को 2000 से घटाकर 500 रुपये कर दिया गया था। सूत्रों की मानें तो अब इस पांच सौ रुपये के जुर्माने को भी वापस लेने पर सहमति बन गई है। गुरुवार दिन में उप राज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता में दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक हुई। इस दौरान दिल्ली में कोविड महामारी को लेकर स्थिति जायजा लिया गया।

दिल्ली में इस समय सक्रिय मरीजों की संख्या 500 से कम हो चुकी है और कोरोना संक्रमण की दर भी आधे फीसदी तक पहुंच गई है। इसे देखते हुए लोगों को मास्क पर लगाए जाने वाले जुरमाने से भी राहत देने पर सहमति बनी है। हालांकि, अभी भी लोगों से मास्क पहनकर रखने की अपील की जाएगी। हालांकि, डीडीएमए की ओर से इस पर विस्तृत निर्देश अभी जारी किए जाएंगे। बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, कैलाश गहलोत, दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव, एम्स निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया, डॉ. एसपी पांडा व अन्य लोग शामिल रहे।

अस्पताल आधारित निगरानी पर रहेगा जोर

डिजीटल माध्यम के जरिए हुई बैठक में दिल्ली में कोरोना संक्रमण की स्थिति समीक्षा की गई। इसके साथ ही फैसला किया गया कि दिल्ली में अब अस्पताल आधारित निगरानी पर जोर दिया जाएगा। ताकि, महामारी की स्थिति के बारे में निश्चित जानकारी रहे। इसके साथ ही टीकाकरण और परीक्षण पर जोर दिया जाएगा। बैठक में दिल्ली में कोरोना प्रबंधन को लेकर उठाए गए कदमों की सराहना करते हुए इस संबंध में किसी भी तरह की ढिलाई नहीं बरतने का भी फैसला किया गया।

पांच सूत्रीय रणनीति पर जो

राजधानी में कोरोना संक्रमण में दोबारा किसी तरह का उभार आने से रोकने के लिए पांच सूत्रीय रणीति पर जोर दिया जाएगा। इसमें कोरोना जांच, सकारात्मक आने वाले मरीजों के संपर्कों की जांच, मरीजों का उपचार, सघन टीकाकरण अभियान और लोगों को कोविड अनुरूप बर्ताव का पालन कराने जैसे तरीके शामिल रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here