Delhi MCD Election 2022: टिकट के लिए कार्यकर्ता अपना रहे नए-नए फॉर्मूले, मजबूत कैंडिडेट की तलाश में राजनीतिक दलों ने भी शुरू कराया सर्वे

0
173

Delhi MCD Chunav: दो महीने बाद दिल्ली में होने वाले एमसीडी चुनाव को लेकर राजधानी में राजनीतिक दलों के कार्यालयों पर पार्टी कार्यकर्ताओं की होड़ लगनी शुरू हो गई। कांग्रेस, भाजपा और आम आदमी पार्टी के कार्यालयों पर सभी टिकट पाने को लेकर नए-नए हथकंडे भी अपनाने शुरू कर दिए हैं। कोई अपने प्रदर्शनों के जरिए हाईकमान का दिल जीतने में लगा है तो कोई पार्टी के सिंबल पर। सभी अलग-अलग फार्मूले इस्तेमाल कर रहे हैं। हालांकि राजनीति दलों ने भी भरोसेमंद उम्मीदवारों की खोज शुरू कर दी है।

दिल्ली नगर निगम में मजबूत और टिकाऊ प्रत्याशी की खोज के लिए आम आदमी पार्टी ने तो सर्वे तक शुरू कर दिया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सभी विधानसभा पर्यवेक्षकों, जिला प्रभारियों और विधायकों से उम्मीदवारों के संभावित नाम मांगे जा रहे हैं। मेधावी उम्मीदवारों को मौका दिया जाए, यह सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न स्तरों से नाम लिए जा रहे हैं। इनका सर्वेक्षण के साथ मिलान किया जाएगा. आम आदमी पार्टी के नेता ने कहा कि पंजाब चुनाव समाप्त होने के बाद चुने गए नामों पर विचार किया जाएगा।
आप नेता ने बताया, पिछले दो वर्षों में पार्टी ने भाजपा को बेनकाब करते हुए लोगों से संबंध बनाए हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी उपयुक्त उम्मीदवारों को खोजने के लिए आश्वस्त है, जिन्हें लोग पसंद करते हैं और समुदाय की सेवा करते हैं। सीएम अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में, हमें यकीन है कि लोग इस बार आप को मौका देंगे।

वहीं दिल्ली में भाजपा कार्यालय पर भी कार्यकर्ताओं की भीड़ पहले से ज्यादा दिखने लगी है। दिल्ली एमसीडी चुनाव को लेकर भाजपा खेमे के वरिष्ठ नेता का कहना है कि सांसदों के कार्यालयों पर उम्मीदवारों की कतार लगनी शुरू हो गई है और रोजाना सैकड़ों सीवी प्राप्त हो रहे हैं। उदाहरण के लिए, 7 से 11 जनवरी के बीच, पूर्वी दिल्ली के सांसद गौतम गंभीर के कार्यालय को 400 से अधिक सीवी मिले। सांसद के एक सहयोगी के अनुसार, सीवी में ज्यादातर पार्टी में व्यक्ति द्वारा रखे जा रहे पदों, शीर्ष नेताओं के साथ तस्वीरें, समाचारों की कटिंग का विवरण होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here