Delhi ki taza khabar in hindi: आप छोड़कर BJP में शामिल हुए अनूप और सतीश पर सिसोदिया का हमला, बोले-हम खुद पार्टी से निकालने वाले थे

0
134

Delhi aaj ki khabar: नई दिल्ली। पंजाब के जीत के बाद हिमाचल प्रदेश में पार्टी के विस्तार में जुटी आम आदमी पार्टी को बड़ा झटका लगा है। शुक्रवार देर रात आप हिमाचल प्रदेश के संयोजक अनूप केसरी व महामंत्री सतीश ठाकुर भाजपा में शामिल हो गए। हालांकि आम आदमी पार्टी AAP इसे नहीं मानती है। पार्टी के प्रदेश संयोजक के भाजपा BJP में शामिल होने के बाद उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish sisodia) ने कहा कि जिसे भाजपा ने अपनाया है, उसपर महिला के साथ गंदी हरकत करने का आरोप है। हम उसे पार्टी से निकालने वाले थे, मगर भाजपा को ऐसे ही चरित्रहीन नेताओं की जरूरत है।

27 साल में भाजपा ने क्या किया? सोमवार को देखने जाउंगा गुजरात : सिसोदिया

भाजपा में बैठा केजरीवाल का खौफ

दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय में आयोजित पत्रकारवार्ता में मनीष सिसोदिया (Manish sisodia) ने कहा कि दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा के अंदर केजरीवाल (Kejriwal) का खौफ बैठ गया है। यही वजह है कि महिलाओं के साथ गंदी हरकत करने वाले नेता, जिसे आम आदमी पार्टी निकालने वाली थी उसे रात 12 बजे भाजपा में शामिल कर लिया गया। उसे पार्टी में शामिल कराने के लिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और मुख्यमंत्री के नए चेहरे अनुराग ठाकुर हिमाचल प्रदेश पहुंच गए। यह इस बात का सबूत है कि हिमाचल के जनता का मूड भाजपा को समझ में आ गया है।

आप से डरी हुई है भाजपा, अनुराग ठाकुर को हिमाचल प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाना चाहती है : सिसोदिया

महिलाओं से गंदी बातें करते थे अनूप और केसरी

सिसोदिया ने बताया कि पार्टी को शिकायतें मिली हैं कि वह (अनूप केसरी) महिलाओं से गंदी बातें करता था। पार्टी उस व्यक्ति के खिलाफ जांच कराकर कार्रवाई कर उसे शनिवार को पार्टी से निकालने वाली थी। लेकिन भाजपा के बड़े नेता रात 12 बजे महिलाओं के खिलाफ दुर्व्यवहार और गंदी बात करने वाले व्यक्ति का गले में बाहें डाल कर उसका भाजपा में स्वागत किया। सिसोदिया ने कहा कि मुझे भाजपा के महिला कार्यकर्ताओं से सहानुभूति है कि आपकी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चरित्रहीन लोगों को पार्टी में शामिल करा रहे है। इससे पता चलता है कि भाजपा हार के डर से बौखला गई है।

एमसीडी के स्कूलों को लेकर डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया का नया आदेश, जानें अफसरों को क्या दिए निर्देश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here